Narendra Modi biography In Hindi | Prime Minister Of India & BJP Leader | नरेन्द्र मोदी जी की सफलता की कहानी

     डरते वो वो लोग है जो अपने छवि के लिए मरते है 

मैं तो हिंदुस्तान की छवी के लिए मरता हूँ 

और इसी लिए मैं किसी से नहीं डरता हूँ  

Narendra Modi biography

दोस्तों येसा कहना है दुनिया के सबसे शक्तिशाली लोगो में शामिल भारत के प्रधान मंत्री नरेन्द्र मोदी जी का . दोस्तों हमारे देश के राजनीति के हिसाब से आप प्यार करे या फिर नफरत लेकिन उनके कबीलों को अनदेखा  नहीं कर सकते है दोस्तों आज इस पोस्ट मे मैं आपको  Narendra Modi biography In Hindi | Prime Minister Of India & BJP Leader | नरेन्द्र मोदी जी की सफलता की कहानी के बारे में आपको बताऊंगा ……

दोस्तों वैसे तो मोदी जी का जीवन बहुत ही साधारण तरीके से शुरू हुआ मगर अपनी देश भक्ति अपने जस्बाज और अपनी मेंहत के दम पर उन्होंने एईसी सफलता हासिल की जिसके बारे में कोई सोच भी नहीं सकता था वे एक बेहद ही गरीब परिवार में पैसा हुए अपने बचपन के दिन में जब बच्चे खेलने खुदने में अपना समय व्यतीत करते है तब उन्होंने अपने घर की आर्थिक सहायता के लिए अपने पिता की दुकान में चाय बच्चे और ट्रेन के डिब्बो में जाकर चाय बेचीं

लेकिन दोस्तों अगर आपके मन में अपने देश के प्रति कुछ कर जाने की इच्छा हो न तो कोई भी लक्ष्य कठिन नहीं रह जाता    ” कौन कहता है की आसमा में सुराख़ नहीं हो सकता एक पत्थर तबियत से उछालो यारो ” तो चलिए दोस्तों आपको हम मोदी जी के चाय बेचने से लेकर प्रधान मंत्री बनने तक के सफ़र को विस्तार से जानते है

नरेन्द्र मोदी का जन्म 17 September 1950 को बोम्बे में हुआ था दोस्तों आपको बता दूँ बोम्बे राज्य पहले भारत का ही एक राज्य था जिसे १ मई में अलग कर गुजरात और महारास्ट्र बना दिया गया तो इस तरह अब मोदी जी का जन्म अस्थान गुजरात राज्य में हुआ था नरेन्द्र मोदी जी के पिता का नाम ‘दामोदर दास मूलचंद्र  मोदी‘ था  और माँ का नाम ‘हीरा बेन मोदी’ है

इनके जन्म के समय इनका परिवार बहुत ही गरीब था और वे एक छोटे से कच्चे माकान में रहते थे नरेन्द्र मोदी अपने माता पिता के कुल ६ संतानों में ३ रे पुत्र है मोदी के पिता रेलवे स्टेशन पर चाय की एक छोटी सी दुकान चलते थे जिसमे नरेन्द्र मोदी भी उनका हाथ बटाते थे और रेल की डिब्बो में जाकर चाय बेचते थे लेकिन हाँ चाय बेचने के साथ साथ मोदी जी पढाई में भी अपना धयान लगते थे उनके टीचर बताते है की मोदी पढाई लिखाई में एक ठीक ठाक छात्र थे मोदी जी ने अपने स्कूल की पढाई वर्ड नगर से पूरी की सिर्फ 13 साल की उम्र में नरेन्द्र जी की शगाइ यशोदा बेन चबन के साथ कर दी गई और फिर 17 साल की उम्र में उनकी शादी हो गई कुछ एक्सप्रेस न्यूज़ के हिसाब से

वे दोनों कुछ साल तक एक दुसरे के साथ रहे और फिर दोनों एक दुसरे के लिए अजनबी हो गये लेकिन नरेन्द्र मोदी के जीवन लेखक एइसा नहीं मानते है उनका मानना है की उनकी शादी जरुर हुई लेकिन वो दोनों एक साथ कभी नहीं रहे

मोदी जी ने एक किताब भी लिखी थी जिसका नाम सघर्ष माँ गुजरात था इस किताब में उन्होंने गुजरात के राजनीती के बारे में चर्चा किया था उन्होंने आरएसएस के प्रचारक रहते हुए 1980 में गुजरात विश्व विध्यालय में PG की डिग्री प्राप्त की आरएसएस का बेहतरीन काम देखते हुए उन्हें भाजपा में नियुक्त कर दिया गया उनके कई अद्भुत कार्य के चलते भाजपा में उनका महत्त्व बढ़ता रहा..आखिर में उनकी सरकार लाइ और 1995 में गुजरात में उनकी पहली सरकार बन गइ लेकिन मोदी से कहाँ सुनी होने के बाद शंकर सिंह भगेला ने पार्टी से को छोड़ दिया उसके बाद केशव भाई पटेल को गुजरात का CM बना दिया गया और नरेन्द्र मोदी को दिल्ली बुला कर भाजपा के संगठन के लिए केन्द्रीय मंत्री का कार्य शौपा गया मोदी जी ने अपने इस कार्य को खुब अच्छी तरह से निभाया ……

नरेन्द्र मोदी ने मुख्य मंत्री का अपना पहला कार्य काल ७ OCT 2001 से शुरू किया मुख्य मंत्री पद पर रहते हए मोदी जी ने बहुत ही अच्छे तरह से अपना कार्यो को संभाला और गुजरात को फिर से मजबूत कर दिया एसिया के सबसे बड़े सोलर पार्क का निर्माण भी गुजरात में ही हुआ और इन सब के अलावा भी उन्होंने ने भुत सारे अद्भुत कार्य किये और देखते ही देखते गुजरात को भारत का सबसे बेहतरीन राज्य बना दिया गुजरात ने  मोदी जी को चार बार लगातार अपना CM बनाया

मोदी जी इन सब कार्यो को देखकर भाजपा के बड़े लोगो ने मिलकर २०१४ में मोदी को भारत का उम्मीदवार प्रधान मंत्री पद पर रखा इस दौरान मोदी जी ने बहुत साड़ी रैलिय की उन्होंने सोशल MIDEA का भी भर पुर लाभ उठाया और लाखो लोगो तक अपनी बात रखी मोदी जी सकारात्मक सोच की वजह से उन्हें भरी वोट मिले और वे भारत के 15 वें प्रधान मंत्री बन गये |

दोस्तों मोदी जी बहुत ही महनती है वे आज भी 18 घंटे कार्य करते है और कुछ ही घंटे सोते है दोस्तों मोदी जी का कहना है कड़ी मेंहत कभी थकान नहीं लाती है वह तो बस संतोष लाती है नरेन्द्र मोदी सुध्ध शाकाहारी है और नवरात्र के नौ दिन उपवास रखते है वे अपनी शेहत का भरपूर्ण ध्यान रखते है मोदी जी अपने माँ से बहुत प्यार करते है उनका कहना है  ‘

मेरे पास अपने बाबा दादा की न एक पाई है और ना ही मुझे चाहिए मेरे पास अगर कुछ है

तो वो है मेरी माँ का आशीर्वाद‘ ..

उम्मीद है आपको ये पोस्ट पसंद आई होगी और इससे आप लोगो को काफी सारी जानकारी मिली होगी हमारे काम को सपोर्ट करने के लिए इस पोस्ट को ज्यादा से ज्यादा शेयर करिए और निच्चे  कमेन्ट करके हमें बताये की आपको ये पोस्ट कैसा लगा धन्यवाद….

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!