Rita Bhaduri Biography: Life History | Career | Unknown Facts | Topbiographyes

Rita Bhaduri Biography

पिछले 5 वर्षो में टेलीविजन की दुनिया जाना पहचाना नाम बन चुकी Rita Bhaduri Biography , उन्होंने न सिर्फ सीरियल में काम किया बल्कि कई मशहूर फिल्मो में भी अपनी एक खास पहचान बनाई चलिए आज इस पोस्ट के जरिये से आपको उनके जिन्दगी के कुछ अनछुए पल के बारे में आपको बताते है, हर चुनौती की सामना करती थी वो टीवी शो निमकी मुखिया में भी लोगो के बिच खासा लोकप्रिय रोल अदा करती थी .

internment industry में Rita Bhaduri का कैरियर ३ दसक से भी ज्यादा रहा है Rita Bhaduri जी ने 70+ फिल्मो में काम किया था उनकी फेमस फिल्मे है जुली ,राजा ,बेटा,दिल दिल प्यार प्यार बीमारी के बावजूद वो अपनी टीवी शो में अपनी किरदार निभाती दीख रही थी वो हर चुनौती की सामना करने वालो में से थी Rita Bhaduri ने एक Enterview में खा था की ‘वो बीमार है कमजोर नहीं ‘ इसी लिए किसी भी कीमत में वो काम नहीं छोड़ सकती है Rita Bhaduri का जन्म 4 नवम्वर 1955 में लखनऊ में  हुआ था Rita Bhaduri को आखरी बार ज स्टार भारत के शो निमकी मुखिया के शो में देखा गया था ,Rita Bhaduri जी ने लगभग 30 टीवी शो में काम किया था , Rita Bhaduri को 1979 में आई फिल्म सावन को आने दो industy में पहचान मिली थी, Rita Bhaduri 1970 के दसक से फिल्मो में सक्रीय थी और उन्हें 1990 तक की फिल्मो में माँ और दादी का रोला निभाते हुए  देखा गया था लेकिन  लम्बे समय से अब वो छोटे परदे पर ही नज़र आ रही थी .,

 

Rita Bhaduri जी ने अपने फ़िल्मी करिअर की शुरुआत 1968 में ‘तेरी तलास’ नाम की फिल्म से किया था उसके बाद उन्हें 1974 में कमल हसन के साथ मल्यानाम फिल्म में काम करने  का मौका मिला इस फिल्म की सबसे खास बात यह थी की चाइल्ड आर्टिस्ट के बाद कमल हसन इसी फिल्म industy में मशहूर हुए थे Rita Bhaduri को इस फिल्म में पहचान पाना काफी मुस्किल है इस फिल्म में उन्हें बेस्ट supporting actors के रूप में nominate किया गया था

आपको ये बता दे जो जान के आपको हैरानी होगी की Rita Bhaduri गुजारती फिल्मो में भी अपना जाना पहचाना नाम बना चुकी थी Rita Bhaduri को फिल्मो से ज्यादा टीवी शो में काम करना पसंद था उनका मानना था की फिल्मो में महिलायों को केन्द्रित रोल मिलना मुस्किल है Rita Bhaduri ये ये भी एक Enterview में कहाँ थी की मुझे अपने ख़राब शेहट के बारे नहीं ज्यादा नहीं सोचना चाहती हुई इसी लिए हर समय मैं अपने आपको ज्यादा से ज्यादा Busy रखने की कोसिस करती रहती हुई और अपने दिमाग को कही और केन्द्रित रखना चाहती हु,Rita Bhaduri जी की 62 साल में निधन होना एक बड़ी छति है मनोरजन के छेत्र के लिए … तो ये थी Rita Bhaduri की जीवन की कहानी को कुछ छोटे मोटे टुकड़े

उम्मीद है आपको ये पोस्ट पसंद आई होगी और इससे आप लोगो को काफी सारी जानकारी मिली होगी हमारे काम को सपोर्ट करने के लिए इस पोस्ट को ज्यादा से ज्यादा शेयर करिए और निच्चे  कमेन्ट करके हमें बताये की आपको ये पोस्ट कैसा लगा धन्यवाद….

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!