Youtube Website Success Story in Hindi | YOUTUBE की सफलता की कहानी

हेलो दोस्तों आज इस पोस्ट में मै आपको  Youtube Website Success Story  की कहानी के बारे में आपको बतायेंगे ….तो चलिए जानते है

Youtube Website Success Story in Hindi

आज की दिन youtube बहुत की काम की चीज है .जैसे की हम youtube से पैसे कमा सकते है entertenment  कर सकते है पढाई कर सकते है और कोई भी इनफार्मेशन विडियो द्वारा प्राप्त कर सकते है कोई भी बंदा youtube पे अपनी विडियो पोस्ट कर लोगो को अपनी जानकारी या फिर अपना टैलेंट दिखा सकता है सिर्फ कुछ चीजो की हेल्प से तो चलिए पहले हम आपको बताते है की

Youtube कैसे बना ?

Youtube को 3 intelligent लोगो ने बनाया है जिनके नाम है

  • CHAD HURLEY
  • STEVE CHEN
  • JAWED KARIM

FEB 2004 में अमेरिकी फुटबॉल का शो अगर आयोजित ना हुआ होता तो शायद आज youtube नहीं होता उस वक़्त जावेद को इन्टरनेट पे लेटेस्ट न्यूज़ और पोस्ट पढने का बहुत ही ज्यादा शौक था तब उस फुटबॉल के शो में एईसी घटना घटी की अमेरिकन एक्टर्स  जैकसन को जस्टिन टिम्बर लोक में एक्सपोज्ड करके बवाल खड़ा कर दिया ये बात इतनी फ़ैल गई की अमेरिका के समाचार माध्यमो में टीवी चैनल में इसका खबर तेजी से फ़ैल गई …और उसी टाइम टीवी चैनल्स और  जगह रोक लगा दी गई थी जावेद ने विडियो देखने के लिए छान मारा पर उसे कोई विडियो नहीं मिला और निराशा ही हाथ लगी उन्होंने सोचा की कोई तो होगा वह उस समय जिसने वहां उस चीज की लाइव शूटिंग की होगी ….ये आईडिया जावेद के मन में आया और ये बात उन्होंने अपने दोस्तों को बताई

 

उनको दोस्तों ने भी इस बात पर ध्यान दिया और वे लोग भी जावेद की मदद करने के लिए तैयार थे December 2004 में Indian ओसन सोनामी ने तबाही मचा दी और इस बार फिर जावेद में पूरा इन्टरनेट छान मारा पर उसे इस बार भी निराशा ही हाथ लगी थी…

अपने इस एक्स्पिरिंस से जावेद परेशां हो चुके थे उनको एहसास हुआ की लोगो तक विडियो पहुचता ही नहीं क्यू की लोगो के पास विडियो शेयरिंग के लिए कोई प्लेटफार्म ही नहीं है जिससे लोग विडियो को शेयर कर सकते ..यह से जावेद को विडियो शेयरिंग साईट बनाने का आईडिया मिला इसके बाद जावेद में कागज पर प्रोजेक्ट को उतार दिया और अपने दोनों दोस्तों को इसके बारे में पेश कर दिया और फिर शुरुआत हुई एक entrepreneur राह की

CHAD HURLEY

एक desineing के स्टूडेंट थे वे अपनी Desineing से लोगो को अपना दीवाना बना देते थे CHAD HURLEY का इन्टरनेट टेक्नोलॉजी से कोई भी रिश्ता नहीं था पर उन्होंने इंटरनेशनल वॉलेट जैसी बड़ी कंपनी Paypal में desineing का काम किया था यह ऑनलाइन मनी ट्रंफर से रिलेटेड अलग अलग आकर्षक लोगो (Logo) पेपाल के लिए इन्होने बनाया था

उसी समय कंप्यूटर के मास्टर steve chen Paypal में वेबसाइट टेक्निकल person के रूप में जुड़े हुए थे उनके साथ एक ही जावेद को भी पीपल में अच्छी पोस्ट मिली जावेद ने भी कंप्यूटर Science का काम किया था इस तरह तीनो एक ही कंपनी में जुड़े हुए थे एक ही कंपनी में काम करते करते तीनो की अच्छी दोस्ती हुई और फिर साथ में घूमना फिरना उनकी आदत हो गई पर वही दोस्ती के माध्यम से वे समय का सही उपयोग करना चाहते थे स्टीफ़ टेक्नोलॉजी oprate करने में मास्टर थे जावेद टेक्नोलॉजी  आईडिया के बादशाह थे इस तरह Paypal का ऑफिस इन तीनो लोगो का यू टुब का अड्डा बन चूका था

steve chen यह तक की फेसबुक स्टार्टअप के कर्मचारी भी रह चुके थे

youtube कंपनी को स्टार्ट करने के लिए पैसो की जरुरत थी इन लोगो ने कैपिटल के सामने youtube का कांसेप्ट पेस किया youtube को सजाने के लिए कैपिटल कंपनी ने 11. 5 minian $ की सहायतया की जिसके बाद इनलोगों ने youtube के Coprate Office ki शुरुआत की

Youtube को sucuss बनने के लिए हर जरुरी यूजर फ्रेंडली टेक्नोलॉजी अपनाई गई धीरे धीरे इन तिनो लोगो ने एसे एसे प्रयोग किये की १ साल के अंदर youtube की सफलता ये थी की youtube की साईट पर आल ओवर वर्ड से 65 हजार से भी ज्यादा विडियो अपलोड होने लगी और १०० Milion से ज्यादा लोगो का ट्रैफिक आने लगा अब youtube पर यूजर का ट्रैफिक भुत तहु से बढ़ने लगा था जो कुछ थोड़े ही समय में youtube फाउंडर्स के लिए क़यामत बनने वाली थी और उसकी वजह थी उनकी डोमेन नाम www.youtube.com

is वेबसाइट की वजह से मेटल मचिन बनाने वाली कंपनी U Tube बार बार हाई इनवैलिड ट्रैफिक की वजह से ब्लाक होने लगी थी 1996 में नामाकित हुई इस वेबसाइट में अगस्त २००६ में 70 logo ने अनजाने में ही इन मेटल कंपनी पैर Invailid  आर्डर कर दिए थे

जिसकी वजह से Utube वालो ने परेशान होकर इस मामले को कोर्ट में कर दिया और फिर कुछ बाद में इन  लोगो ने इस प्रोब्लम को समझौता करके सुलझा दिया गया

अब Youtube की चर्चा अमेरिका के हर घर में होने लगी थी गूगल जैसे बड़ी कंपनी भी youtube की क्रांति को समझ गई थी और गूगल ने youtube के ३नो फाउंडर्स से हाथ मिल ली और गूगल ने तीनो के सामने १.65 बिलियन $ का ऑफर रखा और गूगल ने तीनो को एडवाइजर बना के काम करने की आजादी भी दी थी इतनी अच्छी ऑफर सुन कर तिने लोग इस बात से राजी हो गए और उन्होंने youtube को गूगल के हाथ सौफ दिया …

उम्मीद है आपको ये पोस्ट पसंद आई होगी और इससे आप लोगो को काफी सारी जानकारी मिली होगी हमारे काम को सपोर्ट करने के लिए इस पोस्ट को ज्यादा से ज्यादा शेयर करिए और निच्चे  कमेन्ट करके हमें बताये की आपको ये पोस्ट कैसा लगा धन्यवाद….

1 Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!